नटेरन तहसील

विकिपिडिया नं
Jump to navigation Jump to search
नटेरन तहसील
—  तहसील  —
देय् भारत
राज्य मध्य प्रदेश
जिल्ला

नटेरन तहसील Nateran

नटेरन #विदिशा जिले की तहसील ब्लॉक् केंद्र है लेकिन अभी भी ये गांव है इसके मध्य में 500 साल पुराना एक किला है जिसके पास में करीब 200 वर्ष से ज्यादा पुराना भैरोबाबा का मंदिर है जिसकी एक रामलीला समिति है जो लगभग 100 वर्षो से ज्यादा से समय से रामलीला करवा रही है जो भैरोबाबा रामलीला समिति नटेरन के नाम से जाती है जो प्रत्येक वर्ष नटेरन में रामलीला करवाती है जिसके वर्तमान अध्यक्ष श्री ओमप्रकाश श्रीवास्तव है जो करीब 40 वर्षो से रामलीला समिति के अध्यक्ष है

किले के पास में प्राचीन माता का मंदिर है जिसमे कई प्राचीन मूर्ती है जो हजारों वर्ष पुरानी हो सकती है

गांव के मुकदम पुरन सिंह रघुवंशी थे जिन्हे आधुनिक नटेरन का निर्माता कहा जाता है जिन्होंने अपनी जमीन दान दी जिनमे तहसील, अस्पताल, ब्लॉक कई विभागों के कार्यालयों का निर्माण हुआ जिसकी याद में इनकी मूर्ती जनपद पंचायत भवन में लगी हुई है

छात्र नेता #गौरव_सक्सेना भी यही के है उन्होंने यहां उग्र आंदोलन कर शासकीय उत्कृष्ट स्कूल नटेरन , मॉडल स्कूल नटेरन, शासकीय कन्या हाई स्कूल नटेरन, शासकीय कॉलेज नटेरन, छात्रावासों में छात्र छात्राओं कई सीटें बढ़वाने से लेकर नवीन छात्रावासों के भवन बनबाने में महत्वपूर्ण योगदान है जिससे नटेरन शिक्षा का एक महत्वपूर्ण केंद्र बना है

1994 के बाद मप्र में पंचायत चुनाव होना शुरू हुए जिसमें अभी तक नटेरन ग्राम पंचायत में चार सरपंच बने जिनमे

1 सुरेंद्र लोधी (1995-2000)

2 सुशील जैन (2000-2010)

3 संगीता संजय चौकसे (2010 -2015)

4 सीताराम दिलेरिया (2015 से आजतक )

सरपंच संगीता संजय चौकसे के कार्यकाल में सबसे ज्यादा विकास कार्य हुआ जिसमें नटेरन में लगभग 100 दुकानों का निर्माण से नटेरन ग्राम पंचायत का अलग राजस्व बड़ा है

गौरव सक्सेना[सम्पादन]

गौरव सक्सेना का बचपन यही निकला कक्षा एक से बाहरवीं तक की पढ़ाई यही के सरकारी स्कूलों में पूरी की सन 2011 में चीन की यात्रा की और चीन की दिवार पर तिरंगा लहराकर

नटेरन विदिशा मप्र समेत देश का नाम रोशन किया

छात्र जीवन में शिक्षा के लिए कई आंदोलन किये जिसके फलस्वरूप आप शासकीय उत्कृष्ट स्कूल नटेरन का भवन , शासकीय कन्या हाई स्कूल नटेरन, शासकीय मॉडल स्कूल नटेरन खुलवाने और इनके भवन बनबाने में कामयाब रहे नटेरन में शासकीय कॉलेज खुलवाने का श्रेय भी इन्हे जाता है जिसका भवन बन रहा हाई लगभग एक साल के अंदर काम पूरा हो जायेगा

मॉडल स्कूल और कॉलेज भवन बनवाने में ग्राम सेऊ के पूर्व सरपंच कमलसिंह धाकड़ ने इनकी बहुत मदद की और मॉडल स्कूल और कॉलेज के लिए क्रमशः पांच - पांच बीघा जमीन सरकार को दान की

लिधंसा[सम्पादन]

स्वयादिसँ[सम्पादन]